ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
उत्पादकता बढ़ाने में खरे उतरे कर्मचारी
November 27, 2019 • जगदीश सिकरवार • देश- विदेश

भिलाई इस्पात संयंत्र में गुणवत्तापर्ण उत्पादकता बढ़ाने में खरे उतरे कर्मचारी

श्रम क्षेत्र में वर्ष 2017 के दौरान छत्तीसगढ़ में भारतीय इस्पात प्राधिकरण के भिलाई इस्पात संयंत्र में गुणवत्ता और उत्पादकता बढ़ाने के लिए - केंद्रीय श्रम एवं कर्मचारियों का उत्कृष्ट प्रदर्शन रोजगार सामने आया है, जिसके लिए सयंत्र मंत्रालय ने जारी के 19 कर्मचारियों ने दो श्रेणियों में किया विजेताओं विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार अपने नाम की सूची किए हैं। वहीं राज्य के बलोदा बाजार की अल्ट्रा सीमेंट कंपनी को राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार से नवाजा गया है। जबकि राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार हासिल करने में मध्य प्रदेश के हिस्से में सात और हरियाणा के हिस्से में छह पुरस्कार आए हैं। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने विश्वकर्मा दिवस के उपलक्ष्य में प्रदर्शन वर्ष 2017 के लिए विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार (वीआरपी) और राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार विजेताओं की सूची जारी की है। इस सूची के अनुसार देशभर के विभिन्न उद्योगों और उनके कर्मचारी समूहों को तीन श्रेणियों में 28 विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कारों को 131 कर्मचारियों में साझा किया है। इनमें छत्तीसगढ़ के भिलाई इस्पात सयंत्र के 19 कर्मचारियों के हिस्से में यह पुरस्कार आया है। इसमें बी श्रेणी में 50-50 हजार रुपए के दिये जाने वाले आठ पुरस्कारों में इस संयत्र के छह कर्मचारियों के समूह में मनोज कुमार मेशराम, वी. जनार्धन राव, राधाकृष्ण नायर, कैलाश राम, शीतल कुमार मिश्रा तथा भेवेन्द्र कुमार को सम्मानित किया गया है। मप्र को दस पुरस्कार विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल करने में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पिपलानी स्थित भारत हैवी इलेक्ट्रीकल लि. को सी श्रेणी के आठवदो कर्मचारियों के अलग-अलग समूह को 25-25 हजार रुपए के दस पुरस्कार मिले हैं। इनमें पहले समूह में रंजीत जयश्वर व अश्विनी कुमार साहू तथा दूसरे समूह में संदीप अन्नासाहेब शिंदे, मनीश कुमार तिवारी, चन्द्रशेखर यादव, अल्कार सिंह सोलंकी, शम्सुल हक, कृतिबासा बिश्वल,अनीत वसंतरणदिवेव नीरज कुमार ठाकुर सम्मानित किये गये हैं। सुरक्षा मानको में हरियाणा अव्वल राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार उन औद्योगिक प्रतिष्ठानों, निर्माण स्थलों, बंदरगाहों और परमाणु ऊर्जा नियामकीय बोर्ड के अधीनस्थ प्रतिष्ठानों को उत्कृष्ट सुरक्षा मानकों के शानदार प्रदर्शन पर दिया जाता है। मसलन संस्थान में कोई दुर्घटना न हुई हो और कर्मचारी अपने आपको सुरक्षित महसूस करते हो। ऐसे दुर्घटना निवारण कार्यक्रमों के तहत प्रबंधन एवं कामगारों के हितों के लिए दिये गये पुरस्कार में हरियाणा की सात कंपनियों ने 11 राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार लेकर बाजी मारी है।