ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
सड़क में गड्ढे या गड्ढों में सड़क
November 23, 2019 • जगदीश सिकरवार • राज्य व शहर

सड़क में गड्ढे या गड्ढों में सड़क रोजाना हो रहे हादसे, जिम्मेदार कौन

शहर के तीन व्यस्तम इलाकों में सडकों की बदहाली के चलते लोगों को खासी परेशानियो का सामना करना पड़ रहा हैस्टेशन से न्यू यार्ड, जमानी रोड और ओवर ब्रिज तिराहे पर सडकों में उभरे गड्ढों से आए दिन हादसे हो रहे है लेकिन जिम्मेदारों का अभी तक इस ओर ध्यान नहीं गया। तीनों क्षेत्रों में व्याप्त इस समस्या को लेकर लोगों द्वारा अनेक बार अधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है। लेकिन किसी ने भी इस ओर ध्यान नहीं दिया। महत्वपूर्ण बात है कि न्यूयार्ड मार्ग को नगरपालिका ने अपनी सीमा से बाहर बताकर हाथ खींच लिए लेकिन सीमा क्षेत्र में आने वाले ओवरब्रिज और जमानी रोड की ओर ध्यान तक नहीं दिया। घटिया निर्माण की खुली कलई रेलवे स्टेशन से न्यू यार्ड जाने वाले मार्ग को रेलवे की सीमा में माना जाता है। लेकिन उस्त मार्ग आसपास रेलवे कॉलोनी के अलावा निजी मकान और ग्रामीण क्षेत्र जुड़े होने के कारण आबादी का एक बड़ा हिस्सा इस सड़क का उपयोग आवागमन में करता है। बावजूद इसके नगर प्रशासन द्वारा सडक के निर्माण के लिए खुद को अलग बताकर निर्माण का ठीकरा रेलवे पर फोड देता है। चूंकि स्टेशन से नाला मोहल्ला होते हुए न्यू यार्ड जाने वाले मार्ग से रेल कर्मचारी आवाजाही करते है इसलिए गत दिनो सडक की बदहाली को लेकर रेलवे के कर्मचारी संगठनो द्वारा किए गए आंदोलन के पश्चात रेल प्रशासन द्वारा आनन-फानन में उक्त सडक का निर्माण कराया था। लेकिन ठेकेदार द्वारा किए गए निर्माण कार्य की गुणवत्ता इतनी घटिया थी कि कुछ ही दिन में सडक बदहाल हो गई। वर्तमान में जारी बारिश के चलते छोटी पलिया से लेकर ग्वाल बाबा तक का हिस्सा बुरी तरह से छतिग्रस्त हो चुका है जिसके कारण आए दिन सडक हादसे हो रहे हैबताया जाता है कि कुछ दिनो पूर्व मोटर साइकिल सवार दो युवक भी इसी मार्ग पर हादसे का शिकार हो गए थे जिन्हे बाद में उपचार के लिए एक निजी अस्पताल में भेजा गया 

प्रशासन का अनटरवा

स्टेशन से न्यू यार्ड जाने वाले मार्ग का उपयोग शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी करते है लेकिन नगरपालिका उक्त सडक को अपनी सीमा से बाहर मानते हुए इसे नगरपालिका के अधीन बताती है। सडक की स्थिति को लेकर लोगो ने सीएमओ से चर्चा कर सडक दुरूस्त कराने की मांग की थी लेकिन उन्होने उक्त मार्ग को रेलवे के अधीन बताकर अपने हाथ खींच लिए। इधर रेलवे के अधिकारियों से चर्चा की गई तो उन्होने बताया कि बरसात खत्म होते ही सड़क का निर्माण कार्य शुरू कराया जाएगा।

कई बार कर चुके हैं शिकायत

शहर से जमानी की ओर जाने वाले मार्ग पर आचार्य मंगल भवन से लेकर पलकमती नगर तक लगभग एक किलोमीटर के मार्ग पर दर्जनों गड्डों की वजह से आए दिन वाहन चालक हादसों का शिकार हो रहे हैं। रहवासियों के अनुसार सड़क पर गड्डों की समस्या को लेकर पार्षद से लेकर सभी को अवगत करा चुके हैं परंतु किसी ने भी अभी तक इस समस्या का समाधान नहीं किया। महत्वपूर्ण बात तो यह है कि इस मार्ग पर बडे-बडे गड्ढे होने की वजह से दो दिनो पूर्व दो स्कूली बच्चे हादसे का शिकार हो गए। गनीमत है कि बच्चो को ज्यादा चोटे नहीं आई। वहीं ओवर ब्रिज पर भी लोग आए दिन हादसो का शिकार हो रहे है। शुक्रवार को भी गड़ो की वजह से एक वाहन चालकगंभीररूपसे घायल हो गया। हालांकि वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर लोक निर्माण विभाग द्वारा गड्डो में बजरी भरवाकर व्यवस्था ठीक करने के प्रयास किए थे लेकिन पानी में बजरी के बहने के कारण हालात फिर जस के तस हो गए हैं।

indiatimes