ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
प्रदूषण पर रिपोर्ट
November 28, 2019 • जगदीश सिकरवार • देश- विदेश

एनजीटी ने मांगी फरीदाबाद में राख उड़ने से होने वाले प्रदूषण पर रिपोर्ट

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने फरीदाबाद जिले में हरियाणा पावर जेनरेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा संचालित एक ताप विद्युत संयंत्र के हवा में राख उड़ने का आरोप लगाने वाली एक याचिका पर जवाब मांगा है। एनजीटी के अध्यक्ष न्यायाधीश आदर्श कुमार गोयल की अगुवाई वाली पीठ ने हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और फरीदाबाद के जिला मजिस्ट्रेट को मामले की जांच करने और कानून के अनुरूप उचित कार्रवाई के निर्देश दिए। अधिकरण ने उन्हें तथ्यात्मक और की गई कार्रवाई के बारे में एक माह के अंदर ई मेल से रिपोर्ट भेजने को कहा है। पीठ ने कहा कि हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड समन्वय के लिए नोडल एजेंसी होगी। इस आदेश की प्रति को शिकायत अर्जी के साथ फरीदाबाद के जिला मजिस्ट्रेट और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को भेजा जाए। मामले की अगली सुनवाई सात जनवरी 2020 को होगी। अधिकरण हरियाणा निवासी सागर भूटानी की याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिन्होंने अपनी याचिका में कहा था कि हरियाणा पावर जेनरेशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा संचालित एक ताप विद्युत संयंत्र से हवा में राख उड़ रही है जिससे फरीदाबाद के सेक्टर 49 में रहने वाले लोगों को सांस की बीमारियां हो रही हैं। इस संयंत्र को 2011 में बंद कर दिया था।  निगमायुक्त ने ईको ग्रीन अधिकारियों को लगाई फटकार ____फरीदाबाद।शहर की बिगडी हई सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए फरीदाबाद नगर निगम की आयुक्त श्रीमती सोनल गोयल के नेतृत्व में निगम के अधिकारियों ने कमर कस ली है। निगमायुक्त मंगलवार को एक बार फिर अधिकारियों के साथ शहर की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करने के लिए निकली। निगमायुक्त श्रीमती सोनल गोयल ने खतों से ठीक ढंग से कूड़ान उठाये जाने पर इको ग्रीन कंपनी के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए अपनी कार्य प्रणाली में सुधार करने के निर्देश दिए। निगमायुक्त ने कंपनी अधिकारियों को चेतावनी दी कि या तो वो एग्रीमेंट की शर्तों के अनुसार कर्मचारियों, वाहनों को तैनात करते हुए ठीक ढंग से कार्य करें अन्यथा कड़ी कार्रवाई के लिए तैयार रहे। दौरे के दौरान कई स्थानों पर गोबर पड़ा पाए जाने पर निगमायुक्त ने गहरी नाराजगी प्रकट करते हुए गोबर डालने वाले लोगों की पहचान कर उनके विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. उदयभान शर्मा को दिए।