ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
लोगों ने सत्ता बदली
November 22, 2019 • जगदीश सिकरवार • देश- विदेश

लोगों ने सत्ता बदली, हमने व्यवस्था

- प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2019 का बिगुल बज चुका है। हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु मनोहर सरकार में अहम विभागों की जिम्मेदारी बखूबी संभाल रहे हैं, सरकार के 5 साल पूरे होने को हैं। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी की ओर से तारीखों का एलान कर दिया गया जिसके साथ ही आचार संहिता प्रभाव में आ गई है। इस तरह से सियासी दिग्गजों का एक बार फिर जनता के बीच में जाने का समय आ गया है। नामांकन की बारी चुनावी माहौल के बीच मंत्री भी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में एक बार फिर से वोटरों के बीच वोट की अपील करने के लिए पहुंच रहे हैं। कुछ अर्सा पहले ही लोकसभा चुनाव 2019 में चंडीगढ़ और पंजाब प्रभारी रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता कैप्टन अभिमन्यु ने चुनावी माहौल में वर्तमान चुनावों को लेकर विस्तार से सवालों के जवाब दिए। वित्त मंत्री के साथ में हुई बातचीत के पेश हैं अंश। वित्त मंत्री ने लोकदल और कांग्रेस छोड़कर भाजपा ज्वायन कर रहे नेताओं को लेकर कहा कि ये सभी नेता समझ चुके हैं कि प्रदेश से भाई- भतीजावाद, क्षेत्रवाद और जातिवाद के युग का समापन हो चुका है। वितमंत्री ने कहा कि चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सैलजा और सीएलपी लीडर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को बनाने का कोई खास खास फायदा नहीं होगालोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद भी पूर्व सीएम भूपेंद्र हट्टा के 10 साल के शासनकाल में तमाम भ्रष्टाचार क्षेत्रवाद, भाई-भतीजावाद के आरोप, इतना ही नहीं भ्रष्टाचार के आरोपों में आए दिन सीबीआई अदालतों के चक्कर लगा रहे हैं। वित्त मंत्री ने परिवारवाद पर हमला बोला वह कहा कि झूठ, लूट और कूट वाली राजनीति का प्रदेश से अंत हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा कांग्रेस हाईकमान पर दबाव बनाने के लिए अपने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डा. अशोक तंवर के साथ मारपीट की और इस तरह की राजनीति पर उन्होंने जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि जाट आंदोलन में शामिल लोगों को पकड़ा जा चुका है। उन्होंने कहा कि 2014 में जनता ने कांग्रेस के नेताओं को सबक सिखा दिया था, इस इस बार प्रदेश की जनता मर्ज को पूरी तरह से समाप्त कर देगी। उन्होंने भाजपा में परिवारवाद की बात को पूरी तरह से नकारा व कहा कि यहां पर पार्टी संगठन, पार्टी बडी है, कांग्रेस की तरह से व्यक्ति विशेष नहीं। उन्होंने किसी भी मंत्री और विधायक के टिकट पक्का होने के प्रश्न पर कहा कि ये सब हाईकमान पर निर्भर करेगा, इसीलिए हम भाजपा, कमल के फूल के लिए वोट मांगते हैं, अपने लिए नहीं। भाजपा की लीडरशिप को सारा फैसला करना है कि किसको कहां इस्तेमाल करेगी यह उनको फैसला करना है।