ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
कार की टक्कर से दो की मौत
November 23, 2019 • जगदीश सिकरवार • राज्य व शहर

कार की टक्कर से 100 फीटदूर गिरे ऑटो, दो मरे

नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद भी दिल्ली में रफ्तार का कहर थम नहीं रहा है। रविवारदेररात स्वरूप नगर में भी रफ्तारने दो जान ले लीं। यहां 150 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ रही कार ने सड़क किनारे खड़े चार ऑटो में टक्कर मार दी। हादसे में दो ऑटो चालकों की मौत हो गई, जबकि उनके दो साथी घायल हो गए। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि ऑटो 100 फीट दूर जा गिरे। पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी कार चालक मोहित को गिरफ्तार कर लिया है। प्रत्यक्षदर्शियों का दावा है कि घटना के समय कार सवार पांचों लोग नशे में थे। पुलिस के अनुसार, स्वरूप नगर बस स्टैंड के पास सवारी के इंतजार में ऑटो चालक सड़क किनारे खड़े रहते हैं। रविवार रात संजय कुमार, जितेंद्र, रिंकू और जयकिशन अपने-अपने ऑटो के साथ स्टैंड पर खड़े थे। संजय, जयकिशन और रिंकू एक ऑटो में बैठे थे और जितेंद्र पास में ही खड़ा था। __ अस्पताल में मौत : रात डेढ़ बजे अलीपुर की तरफ से तेज रफ्तार कार आई और चारों ऑटो को पीछे से टक्कर मार दी। हादसे में संजय, जयकिशन, रिंकू और जितेंद्र घायल हो गए। सूचना परस्वरूप नगर एसएचओ इंस्पेक्टर सुभाषचंद्र मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने घायलों को बाबजगजीवन राम अस्पताल पहुंचाया। मगर हालत गंभीरहोने परसंजय औरजयकिशन को एलएनजेपी अस्पताल रेफर कर दिया गया, जहां सुबह उनकी मौत हो गई। डीयू छात्र गिरफ्तार : पुलिस ने आरोपी कार चालक को मौके से ही दबोच लिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कार में चालक सहित पांच लोग सवार थे, जो नशे में धुत थे। हालांकि, पुलिस ने नशे की पुष्टि के लिए कार चालक मोहित के खूने के नमूने को जांच के लिए भेजा है। मोहित एसओएल से बीए अंतिम वर्ष का छात्र है और पालम में रहता है। वह पड़ोस में रहने वाले दोस्तों के साथ अपने पिता की कार से मुरथल पराठेखाने गया था औरलौटते समय यह हादसा हो गया। 

50 की गति पर चालान, फिर तेज रफ्तार कार कैसे निकली!

आरोपियों ने मुरथल से सिंघु बॉर्डर होते हुए दिल्ली में प्रवेश किया। मगर सिंधु बॉर्डर से लेकर घटनास्थल तक करीब 12 किलोमीटर की दूरी में किसी ट्रैफिक पुलिस ने न तो कार की जांच की औनही तेज रफ्तार के कारण चालान किया। इसकी वजह से यह दुर्घटना हुई। यह हाल तब है, जबकि 1 सितंबर से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद दिल्ली ट्रैफिक पुलिस 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पर दौडने वाले वाहनों का भी चालान कर दे रही है. फिर आरोपियों की कार की गति लगभग 150 किलोमीटर प्रति घंटे के आसापास थी। फिर भी उनकी कार को कहीं पर रोका नहीं गया।

timesofindia