ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
गुरु का सानिध्य
November 26, 2019 • जगदीश सिकरवार • राज्य व शहर

भाग्य से मिलता है गुरु का सानिध्य : सुदक्षा

गुरु के श्री चरणों को पाने के लिए भक्त काफी संघर्ष करते हैं। भाग्यवान लोग ही गुरु के श्री चरणों तक पहुंचकर अपने जीवन को - कहा, संसार की तीन महाशक्तियां ब्रह्मा, विष्णु, महेश की पूजा करना सबसे पहले गुरु ने ही बताया सफल बनाने में कामयाब होते हैं। मानव का गुरु दर्शन के बिना कल्याण नहीं होता है। जैन स्थानक भवन में चल रहे चातुर्मास के दौरान प्रवचन में सुदक्षा जी महाराज ने ज्ञान की गंगा बहाकर भक्तों को भाव विभोर कर दिया। जैन स्थानक भवन में भक्तों को गुरु की महिमा पर जैन संत सुदक्षा जी महाराज ने कहा कि गुरु के दर पर आना कोई आसान नहीं होता है। गुरु हमें जिंदगी जीने का ज्ञान देते हैं। गुरु हमें भगवान से सीधे जोड़ते हैं। संसार की तीन महाशक्तियां ब्रह्मा, विष्णु, महेश की पूजा करना सबसे पहले गुरु ने ही बताया है। इस मौके पर श्री एसएस जैन सभा के प्रधान सुशील उर्फ पप्पू जैन, रामबिलास जैन, बलराम, सतीश दनौदा, प्रवीन गोयल, बससेर दास गुप्ता, नितिन, अमित, सचिन आदि मौजूद थे आर्य समाज के भजनोपदेशक हांसी। पिछले दो दिन से शहर में आर्य समाज भजनोपदेशक लोगों को सामाजिक बुराइयों के खिलाफ जागरूक कर रहे हैं। आर्य समाज हांसी द्वारा वार्षिक उत्सव मनाया जा रहा है। आर्य समाज हांसी में आयोजित वार्षिक उत्सव का शुभारम्भ सेवानिवृत्त एसडीओ केएल ग्रोवर ने किया। ग्रोवर इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि आर्य समाज का देश के विकास में बड़ा योगदान है। बाल विवाह, कन्या भ्रूण हत्याविधवा विवाह न होने देना आदि कुरीतियों पर स्वामी दयानन्द ने बडा प्रहार किया और महिलाओं की शिक्षा पर जोर दिया। इस अवसर  पर दर्शनाचार्य स्वामी ओमदत, भजन उपदेशक कैलाश कर्मठ, आर्य समाज के प्रधान केसी बब्बर, मन्त्री रामअवतार सिंह, फतेह सिंह आर्य, आचार्य आजाद मुनि, आर्य स्कूल के प्रधान वेद नारंग, मिथुन बंसल, अरूण आर्य आदि उपस्थित थे।