ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
दिल्ली में 800 वाटरप्लांट
November 22, 2019 • जगदीश सिकरवार • राज्य व शहर

पूर्वी दिल्ली में 800 वाटरप्लांट अवैध

पूर्वी दिल्ली में आठ सौ से अधिक अवैध वाटरकूलिंग प्लांट संचालित हैं, जिनके कारण रोज ढ़ाई करोड़ लीटर पानी की बर्बादी हो रहा है। यह जानकारी देते हुए शाहदरा दक्षिण जोन के डिप्टी चेयरमैन श्यामसुंदर अग्रवाल ने कार्रवाई के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है। अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि निगम अधिकारी निजी स्वार्थों के कारण इनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। शाहदरा दक्षिण जोन के उप- स्वास्थ्य अधिकारी अजय कुमार का कहना है कि उनके जोन में करीब 20 वाटर कूलिंग प्लांट ऐसे हैं, जिनके पास लाइसेंस हैं। गैर कानूनी तरीके से चल स्वास्थ्य को खतरा पत्र में कहा गया है कि अवैध प्लांट । के जरिये यमुनापार के विभिन्न इलाकों में जार और बोतलों में जिस पानी की आपूर्ति की जा रही है, वह स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक है। निगम अधिकारी इन प्लांट के खिलाफ कार्रवाई न कर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। वाटर प्लांट के बारे में उनके पास शिकायतें आई हैं। उन्होंने दक्षिण जोन के सभी एसडीएम को पत्र लिखकर कार्रवाई करने के लिए कहा है। उप- स्वास्थ्य अधिकारी ने माना कि भूमिगत जल स्रोतों का अत्यधिक दोहन होने से उसमें अनेक तत्वों की मात्रा खतरनाक इन इलाकों में चल रहे पूर्वी दिल्ली के शाहदरा दक्षिण और उत्तरी जोन के अंतर्गत आने वाले वेलकम, जाफराबाद, सीमापुरी, शाहदरा, गीता कॉलोनी, अजीत नगर, भजनपुरा, कबीर नगर, गांधी नगर, विश्वास नगर, करावल नगर गाजीपुर, पांडव नगर सहित अनेक क्षेत्र ऐसे हैं, जहां ये अवैध प्लांट चल रहे हैं। स्तर तक पहुंच गई है। प्लांट के जरिए जो पानी लोगों को दिया जा रहा है, वह डब्ल्यूएचओ के मानक के लिहाज से पीने लायक नहीं है। उत्तरी जोन के उपायुक्त रेहन कुमार से संपर्क किया गया, लेकिन इन प्लांट के संबंध में वह कोई आकंड़ा मुहैया नहीं करा सके।