ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
चालान
November 25, 2019 • जगदीश सिकरवार • राज्य व शहर

ये मोटर व्हीकल एक्ट पर चालू विश्वविद्यालय ने एक निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया था। इस प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार निबंध इस प्रकार है। नए मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद से चालान को लेकर नएनए रिकॉर्ड बन रहे हैं। किसी का 25 हजार तो किसी 50 हजार और यहां तक कि किसी का लाख रुपये तक का भी चालान कटा है। हाल में एक ट्रक मालिक का 2 लाख से ज्यादा का चालान कटा। इसकी वजह ओवरलोडिंग और जरूरी दस्तावेज न होना था। खास बात यह भी है कि ट्रक के मालिक ने तुरंत यह चालान भर भी दिया। चालान से हर तरफ खौफ का माहौल हैयहाँ तक कि जिन शहरों में नया एक्ट लागू हो गया है, वहां मृत्यु दर में गिरावट दर्ज की गई है। यमराज भी अपने भैंसे पर उन शहरों में जाने में हिचक रहे हैं जहां यह नया अधिनियम लागू हो चुका है। इसके पीछे भी खास बजह है। यमराज को डर है कि पता नहीं किस-किस किस्म के चालान कर दिए जाएं। कौन-कौन से लाइसेंस, कौन-कौन से डोक्यूटमेंट्स की जरुरत बता दी जाए। और कई जागरुक शहरों में यह तक संभव है कि यमराज की धरपकड़ इसीलिए ही कर ली जाए कि वह एक पशु से सवारी का काम ले रहे हैं। पशु-अधिकार संगठन यमराज की धरपकड़ कर सकते हैं। तो कुल मिलाकर जितना खौफ यमराज को हो सकता है, उससे कहीं ज्यादा खौफ भारतीय शहरों में ट्रैफिक चालान का हो लिया है। यमराज तक जिस चालान से डरने लगें तो समझ लिया जाना चाहिए कि ट्रैफिक चालान का नया सिस्टम किस कदर खतरनाक है। पाकिस्तान में समझदार किस्म के एक्सपर्ट इमरान खान और उनके बड़बोले मंत्रियों को समझा रहे है कि रोज उठकर फोकटी के पंगे भारत से न लिया करोपाकिस्तान की कुल जीडीपी जितनी है, उतनी रकम तो दिल्ली शहर में ट्रैफिक पुलिस एक दिन के चालान से ही वसूल लेती हैट्रैफिक चालानवालों की इज्जत समाज में बहुत ऊंची हो गई है। पहले कस्टमवालों को, इनकम टैक्सवालों को, पीडब्लूडी वालों को सहज कमाऊ माना जाता था, अब कस्टमवाले, इनकम टैक्सवाले और पीडब्लूडी वाले भी सरकार ने निवेदनरत हैं कि प्लीज हमारा कैडर बदल दिया जाए और हमें ट्रैफिक चालानवाला बना दिया जाए। अब यातायात वालों को नंबर वन ग्रेड का माना जा रहा है। ऐसी खबरें हैं कि करण जौहर एक प्रेमकथा पर फिल्म बना रहे हैं, जिसमें शाहरुख खान बड़े उद्योगपति बने हैं, पर एक अमीर ट्रैफिक चालानवाला अपनी बेटी की शादी शाहरुख खान से करने से इनकार कर देता है। ट्रैफिक चालानवाला शाहरुख खान से कहता है-तुम अरबपति उद्योगपति भर हो, क्या औकात है तुम्हारी। मैं ट्रैफिक चालानवाला हूं। एक और भोजपुरी फिल्म-चालान से चीन बन रही है। इस फिल्म में भारत की चीन पर विजय दिखाई जाएगी। इस फिल्म की कहानी यह है कि एक ट्रैफिक चालानवाला इन खबरों से परेशान रहता है कि चीनी सेना कभी लद्दाख में घुसपैठ करती रहती है, कभी डोकलाम में घुस आती है। एक दिन ट्रैफिक चालानवाला एक महीने के ट्रैफिक चालान की रकम लेकर चीन में घुस जाता है चीन सरकार के अफसर के आगे वह रकम फेंककर कहता है कि ले तेरे पूरे चीन की कीमत। चीन के अफसर की आंखें फटी की फटी रह जाती है। इस फिल्म के इस गीत की शूटिंग हो चुकी है-समझो बबुआ, समझो जान, चीन लेंगे करके चालान।तो इस तरह से हम समझ सकते हैं कि ट्रैफिक चालान के कई आयाम हैं। स्थानीय घरेलू अर्थव्यवस्था से लेकर विदेश नीति और रक्षा नीति से जुड़े मसलों तक ट्रैफिक चालान भूमिका निभा सकता है। मुंबई की सीरियल इंडस्ट्री में नया सीरियल तैयार है-ड्राइवर नागिनवाला, इस सीरियल में यह दिखाया जाने वाला है कि किस तरह से एक ड्राइवर ने एक इच्छाधारी नागिन को वश में कर लिया है और ट्रैफिक चालानवाले को देखते ही किस तरह से ड्राइवर इच्छाधारी नागिन की मदद से हवाई जहाज बन जाता है और ट्रैफिक चालान से बच जाता है। हवाई जहाज पर चालान करने का अधिकार अभी ट्रैफिक चालान वालों को नहीं है