ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
आवर्धन योजना अधूरी
November 25, 2019 • जगदीश सिकरवार • राज्य व शहर

50 करोड़ की जल आवर्धन योजना अधूरी

जिले के नगर पालिक निगम चिरमिरी में जल आर्वधन योजना पूरी होने की मियाद कई बार खत्म होने पर आखिरकार राज्य शासन से पीएचई के कार्यपालन निलंबित कर दिया है। योजना में लेटलतीफी का खा मि या जा का य पालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में विजय मिंज को भुगतना पड़ा। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग मंत्रालय ने इन पर छग सिविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील) नियम । 1966 नियम (1) (क) के तहत प्रभाव से निलंबित किया गया है। राज्य शासन ने आदेश जारी कर कार्यपालन अभियंता विजय मिंज को निलंबित कर दिया। इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक चिरमिरी जल प्रदाय योजना में विलंब किए जाने की वजह से लोगों के बीच विभाग की छवि धूमिल हो रही थी, वहीं लेट लतीफी का लोगों को लाभ नहीं मिल पा रहा था। इस वजह से कार्यपालन अभियंता श्री मिंज को निलंबन की कार्रवाई की गई है। निलंबन आदेश में यह भी लेख किया गया है कि निलंबन अवधि में श्री मिंज का मुख्यालय अधीक्षण अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंडल अम्बिकापुर नियत किया गया है। निलंबन सातारा अवधि में उन्हें जीवन निर्वाह भत्ता नियमानुसार देय होंगे। उल्लेखनीय है कि, करीब 50 करोड़ की लागत से चिरमिरी में जल आवर्धन योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है, उम्मीद जताई जा रही थी कि, योजना विधानसभा चुनाव के पहले परी हो जाएगी, लेकिन लोकसभा चुनाव भी संपन्न होने के बाद काफी समय गुजर गया और योजना का क्रियान्वयन कछुए के चाल की तरह संचालित है। पिछले कुछ दिनों पहले इंटकवेल, एनिकट, फिल्टर प्लांट, पाइप लाइन, ओवरहेड टैंक, संपवेल का निर्माण पूरा हो चुका हैयोजना में पानी का स्रोत मनेन्द्रगढ़, चिरमिरी के बीच 18 किमी दूर हसदो नदी से पीएचई विभाग शहर में पानी सप्लाई के लिए पाइप लाइन बिछाई है। जल आवर्धन योजना के जलप्रदाय के लिए से शहर में वाटर टैंक में पानी पहुंचाने के लिए काम चल रहा है। टंकियों से घर-घर तक पानी पहुंचाने के लिए कोई नई पाइप लाइन नहीं बिछाई गई है। पुरानी पाइप लाइन के भरोसे जलावर्धन का जल घर-घर पहुंचाया जाएगा। पुरानी पाइप लाइन में जल बहाव की क्षमता कम है, पुरानी होने के कारण कई जगह से पाइप लाइन क्षतिग्रस्त भी हो चुकी हैं। ऐसे में नई टंकियों से पुरानी पाइप लाइन के भरोसे जलप्रदाय करना मुश्किल होगा।

pinterest