ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
आज होगी वोटिंग
November 25, 2019 • जगदीश सिकरवार • देश- विदेश

DUSU: आज होगी वोटिंग, मैदान में उतरे 16 डूसू कैंडिडेट

दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन (डूसू) के लिए आज स्टूडेंट्स अपने कैंडिडेट चुनेंगे। डूसू चुनाव के लिए प्रशासन की तैयारी पूरी है। आज सुबह 8:30 बजे से वोटिंग शुरू हो जाएगी और शाम 7:30 तक चलेगी। डूसू 201920 के लिए चार पोस्ट पर 16 कैंडिडेट आमने-सामने हैं। प्रेजिडेंट पोस्ट पर 4 कैंडिडेट हैं। डूसू के लिए 1.4 लाख वोटर्स हैं। डूसू के कैंडिडेट्स बुधवार को प्रचार से छुट्टी पर थे और आज उनके लिए भागदौड़ का आखिरी दिन है। वोटर्स के लिए आज अपने फैसले पर मोहर लगाने का दिन है। डीयू में करीब 1 लाख 40 हजार वोटर्स हैं। 52 कॉलेज के स्टूडेंट्स डूसू वोटिंग में शामिल होंगे। डूसू की चार पोस्ट के लिए वोटिंग 12 सितंबर को मॉर्निंग कॉलेजों में सुबह 8:30 बजे से 1 बजे तक होगी। वहीं, ईवनिंग कॉलेजों में स्टूडेंट्स 3 बजे से शाम 7:30 बजे तक वोट दे सकेंगे13 सितंबर को डीयू नॉर्थ कैंपस में कम्यूनिटी हॉल, किंग्सवे कैंप, पुलिस लाइंस में वोटों की गिनती सुबह 8:30 बजे शुरू होगी। इसी दिन रिजल्ट जारी हो जाएगा। वोटिंग ईवीएम मशीन के जरिए होगी। डूसू के चीफ इलेक्शन ऑफिसर प्रोफेसर अशोक प्रसाद ने बताया, डूसू के लिए डीयू के कॉलेजों में 144 ईवीएम लगाए गए हैं। करीब 1.4 लाख स्टूडेंट्स हैं। इसके साथ-साथ कॉलेजों के स्टूडेंट्स यूनियन के चुनाव के लिए भी 137 ईवीएम लगाई गई हैं। __ वोटिंग के लिए आई कार्ड जरूरी होगा। इलेक्शन कमिटी के अधिकारियों ने बताया कि जिन स्टूडेंट्स के पास अब तक आईडी कार्ड नहीं वे आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी और ड्राइविंग लाइसेंस में से किसी एक के साथ वेरिफाई की गई फीस रसीद दिखाकर वोट दे सकते हैं।बुधवार को कोड ऑफ कंडक्ट के तहत प्रचार की मनाही थी। हालांकि, सोशल मीडिया के जरिए कैंडिडेट्स ने स्टूडेंट्स से वोट देने की अपील की। डूसू प्रेजिडेंट की रेस में एबीवीपी के अक्षित दहिया और एनएसयूआई की चेतना त्यागी आमने-सामने हैं, आइसा से दामिनी केन भी रेस में हैं। चुनाव डूसू प्रेजिडेंट, वाइस प्रेजिडेंट, सेक्रेटरी, जॉइंट सेक्रेटरी पोस्ट के लिए होगा। इनके अलावा, डीयू के कॉलेजों में भी यूनियन के चुनाव चलेंगे। ABVP प्रेजिडेंट कैंडिडेट का नॉमिनेशन रद्द हो : NSUI नई दिल्ली : डूसू इलेक्शन कमिटी को एनएसयूआई की ओर से शिकायत दी गई है कि एबीवीपी ने अपने प्रचार में धर्म का इस्तेमाल किया है। यूनियन ने कमिटी से मांग की है कि एबीवीपी कैंडिडेट के नॉमिनेशन को रद्द करें क्योंकि यह लिंग्दोह कमिटी की सिफारिशों का उल्लंघन है। यूनियन ने सोशल मीडिया में एबीवीपी के प्रेजिडेंट कैंडिडेट अक्षित दहिया की उस तस्वीर का हवाला दिया है, जिसमें वे बाकी एबीवीपी के उम्मीदवारों के साथ मंदिर में हैं। इस आरोप पर एबीवीपी के लीडर आशुतोष सिंह का कहना है कि पूजा-पाठ व्यक्तिगत मामला है, इसका प्रचार से कोई लेना-देना नहीं। तस्वीर तीन-चार दिन पुरानी है।