ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
मोदी की “स्किल इंडिया” का गर्भपात
January 22, 2019 • जगदीश शिकरवार

एन.एस.डी.सी. ने किया मोदी की “स्किल इंडिया” का गर्भपात

दैनिक समाचार, दिल्ली – प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना को सुचारू रूप से चलाने के लिए एम.एस.डी.ई. मंत्रालय ने एन.एस.डी.सी को न्युक्त किया है, लेकिन एन.एस.डी.सी. के वरिस्थ अधिकारीयों ने समय समय पर देश के युवाओं को गुमराह कर देश वाशियों के कई हज़ार करोड़ रूपये बरवाद कर दिए I एन.एस.डी.सी. में बुद्धि जीवी लोग हैं जो कि आसानी से मंत्रालय एवं मंत्रियों को लुभा लेते हैं और मोदी जी के मंत्रियों के पास व्यस्तता होने के कारण एन.एस.डी.सी. बाले मजे से अपना उल्लू सीधा कर लेते हैं I

मंत्रालय व एन.एस.डी.सी के पास कोई दूरदर्शिता नहीं है पिछले डेढ़ वर्ष में लगभग २ लाख लोग बेरोजगार ही नहीं बेघर हुए हैं I कई ने तो मजबूर होकर आत्म हत्या तक करली और सरकार ने उनकी सुध तक नहीं ली I  

 सरकार की नियत अगर साफ़ होती तो हमारे संपादक जगदीश शिकरवार ने पी.एम.ओ में बैठे श्री विजय कुमार मंत्री से सेकड़ों बार फ़ोन पर बात करने की कोशिश की लेकिन महोदय के पास समय ही नहीं निकला बात करने के लिए I    

 जब तक मंत्री जी तक कोई बात पहुंचती है तब तक अधिकारी एन.एस.डी.सी से नौकरी छोड़ देते हैं और एन.एस.डी.सी इसी तरह से लोगों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है I

 हाल ही में एन.एस.डी.सी ने आर.ऍफ़.पी.- पी.एम.के.वी.वाई के माध्यम से २ लाख टारगेट का आबंटन किया है लेकिन स्किल के जानकारों की मानें तो इसमें में भी पारदर्शिता नहीं है क्यूंकि लगभग कई हज़ार एसे ट्रेनिंग सेंटर्स थे जो की पोर्टल पर अपलोड ही नहीं हुए, ट्रेनिंग पार्टनर्स के विरोध की आवाज को हर वार की तरह दबा दिया गया, फीस के नाम पर २५००० रुपये लिए गए I तत्पश्चात भी उनकी समस्या जस की तस बनी हुयी है I

 हमारी टीम ने एन.एस.डी.सी. के अधिकारीयों से बात करने की कोशिश की लेकिन कोई समाधान नहीं निकला I ज्यादा तर ट्रेनिंग पार्टनर्स एन.एस.डी.सी के अधिकारीयों से असंतुष्ट हैं क्यूंकि, उनके प्रयास के बावजूद भी उनकी अप्प्लिकेसन को रिव्यु नहीं किया गया और सिलेक्टेड ट्रेनिंग पार्टनर्स के लिए नियमों की धज्जियाँ उड़ादीं गयी I कहीं न कहीं इसे स्किल इंडिया वनाम स्कैम इंडिया से जोड़ा जा रहा है I सभी चाहते हैं की सबका साथ सबका विकास के नाम पर सरकार में बैठे ये लोग सरकार को बदनाम कर मोदी जी की लोकप्रियता को खत्म कर विपक्ष को मौका देना चाहते हैं I

 हमारा प्रयास है की सरकार को समय समय पर सच्चाई से अवगत कराया जाए I हमारा उद्देश्य किसी को ठेस पहुँचाना नहीं पर युवाओं के प्रति सरकार को सही तथ्य बताना है जिससे सरकार समय रहते अपनी गलतियों को सुधारले I हम युवाओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं साथ ही सरकार से विनम्र निवेदन करते हैं की एन.एस.डी.सी एवं एम.एस.डी.ई. के कुछ अधिकारीयों की जांच हो I हम जल्द से जल्द उन अधिकारीयों के नाम भी उजागर करेंगे जिन्होंने अपने पद का दुरुपयोग कर मोदी जी की योजना का गर्भपात करवाने में उनकी खाशी भूमिका रही है I आप अपने विचार हमें लिख सकते हैं jansahayakmail@gmail.com I