ALL देश- विदेश राज्य व शहर शिक्षा व्यापार खेल धर्म मनोरंजन स्वास्थ्य फिल्मिदुनियाँ
मेट्रो स्टेशन सिग्नल फ्री
November 22, 2019 • जगदीश सिकरवार • राज्य व शहर

धौला कुआं मेट्रो स्टेशन सिग्नल फ्री

धौला कुआं मेट्रो स्टेशन के पास बने फ्लाईओवर का दूसरा हिस्सा रविवार को खोल दिया गया है। ट्रायल के तौरपर शुक्रवार को इसे कुछ समय के लिए खोला गया था। इस फ्लाईओवर के खुलने से मेट्रोस्टेशन परस्थितटीप्वाइंट परलालबत्ती का सिग्नल खत्म हो गया, जिससे यहां लगने वाले जाम से राहत मिलेगी। इस फ्लाईओवर के खुलने से पश्चिमी दिल्ली के तिलक नगर, जनकपुरी, पालम, उत्तम नगर और द्वारका की ओर से जाने वाले लोगों को टी प्वाइंट पर रुकने की जरूरत नहीं पड़ेगी। वाहन सीधे फ्लाईओवर पर • मेट्रो स्टेशन के पास फ्लाईओवर का दूसरा हिस्सा खुला • स्टेशन के टी प्वाइंट पर लालबत्ती का सिग्नल खत्म हुआ चढ़कर सरदार पटेल मार्ग से होते हुए आगे निकल जाएंगे। इस काम को पूरा करने में नेशलन हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया को डेढ़ साल का समय लगा है। इसके बनने से अब एयरपोर्ट की ओर जाने वाले लोगों को भी राहत मिलेगी। वीआईपी मूवमेंट रहता है: यह रास्ता एयरपोर्ट व राष्ट्रपति भवन जाने के लिए मुख्य मार्ग के रूप में इस्तेमाल होता था। इसके चलते इस सड़क परवीआईपी मूवमेंट अधिक होते थे। कई बार प्रोटोकॉल के चलते आम ट्रैफिक को रोक दिया जाता था, जिससे लोगों को जाम का सामना करना पड़ता था। अब फ्लाईओवर के चालू होने से ट्रैफिक नहीं रोकना होगा। __एक हिस्सा पहले खुल चुका एयरपोर्ट की ओर से सरदार पटेल मार्ग की ओर जाने वाली गाड़ियों के लिए फ्लाईओवर का पहला हिस्सा कुछ महीने पहले ही खोला जा चुका है। इससे पहले एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन के सामने टी प्वाइंट पर गाड़ियों को रुकना पड़ता था । इसी वजह से पीक आवर में दोनों ओर गाड़ियों की लंबी कतारें लग जाती थीं।

लोपलोट बसें आने की उम्मीद बढ़ी

नई दिल्ली (का.सं.)। डीटीसी के बेड़े में नई बसों के शामिल होने का लंबा इंतजारजल्द खत्म होगा। एक हजारलो फ्लोरवातानुकूलित बसों की आपूर्ति के लिए तीन कंपनियों ने रुचि दिखाई है। पिछले तीन सालों में यह तीसरा मौका है जब डीटीसी बस की खरीद के लिए निविदा जारी की गई है। इसमें दो बार कंपनियों के नहीं आने की वजह से निविदा रद्द करनी पड़ी थी। डीटीसी अधिकारियों की माने तो इस बार ज्यादा कंपनियों को बुलाने के लिए सरकार ने निविदा की शर्तों में भी राहत दी थी। वहीं सूत्रों के अनुसारटेंडर प्रक्रिया में से एक कंपनी पीछे हट गई है। अब सिर्फ दो कंपनियां टेंडर प्रक्रिया में शामिल हैं।